सीएमपीडीआई वेबसाइट पर आपका स्वागत है 


           सीआईएल मेल           
हमे फेसबूक पर पसंद करे टिवीटर पर फॉलो करना
ऑनलाइन भर्ती
ऑनलाइन भर्ती


अस्वीकृति

वेबसाइट की नीतियां


कॉपीराइट नीति

इस वेबसाइट पर प्रस्तुत की गई सामग्री को निःशुल्क पुनः प्रस्तुत किया (दोबारा दिखाया) जा सकता है। परन्तु, सामग्री को उसी रूप में (ठीक-ठीक) दोबारा दिखाया जाएगा, न कि तोड़-मरोड़कर या भ्रामक तरीके से। जहाँ कहीं भी सामग्री प्रकाशित की जा रही है या दूसरे को जारी की (दी) जा रही है, वहाँ सामग्री के स्रोत का उल्लेख अवश्य किया जाना चाहिए। तृतीय पक्ष के कॉपीराइट के रूप में पहचानी विषय वस्तु (सामग्री) को दोबारा प्रस्तुत करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस प्रकार की सामग्री को पुनः प्रस्तुत करने के लिए प्राधिकार संबंधित विभागों/कॉपीराइट धारकों से प्राप्त करना होगा।

विषय वस्तु (सामग्री) वितरण (कॉन्ट्रीब्यूशन), संशोधन (मॉडरेशन) तथा अनुमोदन नीति (सीएमएपी)

सामग्री का वितरण; प्राधिकृत सामग्री (कन्टेंट) प्रबंधक द्वारा सम्बद्ध मेटा डेटा तथा कीवर्ड के साथ-साथ एकरूपता बनाए रखने तथा मानकीकरण में लाने के लिए सिलसिलेवार ढंग से दिया जाएगा । दर्शकों की अपेक्षा के अनुसार विषय-वस्तु (सामग्री) को प्रस्तुत करने के उद्देश्य से सम्बद्ध विषय-वस्तु (सामग्री), जो वेबसाइट पर दी जा रही है, को सफलतापूर्वक दुबारा प्राप्त करने के लिए विषय वस्तु (सामग्री) को श्रेणीबद्ध ढंग से संगठित किया जाएगा।
वेबसाइट की विषय-वस्तु (सामग्री) निम्नलिखित सम्पूर्ण जीवन चक्र (लाइफ साईकिल) प्रक्रिया से गुजरेगी:
• सृजन (क्रिएशन)
• रूपांतरण (मोडिफिकेशन)
• अनुमोदन (अप्रुवल)
• संशोधन (मॉडरेशन)
• प्रकाशन (पब्लिसिंग)
• समाप्ति (एक्सपायरी)
एक बार यदि सामग्री को वितरित (कंट्रीब्यूट) कर दिया जाता है तो, वेबसाइट पर इसके प्रकाशन के पहले अनुमोदित तथा संशोधित किया जाएगा। यदि किसी स्तर पर सामग्री को अस्वीकृत कर दिया जाता है, इसमें रूपांतरण के लिए इस सामग्री को प्रवर्तक (ओरिजिनेटर) को वापस किया जाएगा।
प्रत्येक विषय वस्तु (सामग्री) के प्रत्येक तत्व (एलीमेंट) के लिए “सीएमपीडीआईएल” ने उपयुक्त मॉडरेटर एवं अप्रूवर को विहित किया है।
(वेबसाइट पर प्रकाशन के लिए नहीं)
[प्रत्येक विषय वस्तु (सामग्री) के प्रत्येक तत्व (एलीमेंट) के लिए अप्रूवर एवं मॉडरेटर]
क्र.सं. सामग्री एलिमेंट सामग्री का प्रकार मॉडरेटर अप्रूवर कंट्रीव्यूटर रिमार्क्स
नियमित प्राथमिकता
1. सीएमपीडीआईएल के बारे में हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
2. नीति/अधिनियम/परिपत्र/अधिसूचना हाँ हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
3. दस्तावेज/प्रकाशन/रिपोर्ट हाँ हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
4. निर्देशिका/विषय वस्तु का विवरण हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
5. निविदा हाँ हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
6. फोटो-गैलरी हाँ वेब सूचना प्रबंधक विभागाध्यक्ष विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक जहाँ लागू हो

विषय वस्तु/सामग्री (कंटेन्ट) अभिलेखीय नीति (सीएपी)

विषय वस्तु/सामग्री (कंटेंट) का सृजन मेटा डेटा, स्रोत एवं वैधता की तिथि के साथ किया जाता है। कुछ विषय-वस्तु/सामग्री (कंटेन्ट) जो स्थायी प्रकृति के होते हैं और ऐसे विषय वस्तु (कंटेंट) के लिए यह मान लिया जाता है कि इनकी समीक्षा प्रत्येक 10 वर्ष पर की जाएगी जब तक कि उन्हें आवश्यकतानुसार संपादित नहीं किया जाए/हटाया नहीं जाए। वैधता की तिथि के बाद विषय वस्तु (कंटेंट) को वेबसाइट पर प्रदर्शित नहीं किया जाएगा। निविदा, बहाली आदि घटकों से युक्त कुछ अल्पकालीन विषय वस्तु हैं, जिनके इच्छित उद्देश्य की प्राप्ति के बाद वेबसाइट पर कोई प्रासंगिकता नहीं रह जाएगी। विषय वस्तु समीक्षा नीति के अनुसार दस्तावेज़, रिपोर्ट, नवीनतम समाचार जैसे घटकों से युक्त विषय वस्तु की नियमित समीक्षा की जाती है।
यदि सामग्री (विषय वस्तु) प्रासंगिक नहीं है तो सामग्री को अभिलेखागार में रख दिया जाता है तथा इसे वेबसाइट पर प्रकाशित करने की आवश्यकता नहीं रह जाती है।
उल्लेख की गयी उपर्युक्त नीति लागू है तथा वेबसाइट का रखरखाव करते समय इसका अनुसरण किया जाएगा।

विषय वस्तु /सामग्री (कंटेंट) समीक्षा नीति (सीआरपी)

वेबसाइट पर दिए गए विषय वस्तु को सामयिक एवं अद्यतन रखने का पूरा प्रयास किया जाता है। विषय वस्तु (सामग्री) समीक्षा की यह नीति वेबसाइट विषय वस्तु समीक्षा की भूमिका एवं दायित्व को तथा इस दायित्व को पूरा किये जाने के आवश्यक ढंग को परिभाषित करती है । समीक्षा की नीतियों को विविधता वाले विषय वस्तु के तत्व के लिए परिभाषित किया गया है।
समीक्षा नीति भिन्न-भिन्न प्रकार की विषय वस्तु के तत्व, इसकी वैधता तथा प्रासंगिकता के साथ-साथ अभिलेखीय नीति पर आधारित है।
सीएमपीडीआई” की टीम द्वारा तीन माह में एक बार विन्यास जांच (सिंटेक्स चेक्स) के लिए वेबसाइट की समस्त विषयवस्तु की जांच की जाएगी।
(वेबसाइट पर प्रकाशन के लिए नहीं)
क्र.सं. विषय वस्तु का तत्व समीक्षा की आवृति अप्रूवर
1. सीएमपीडीआईएल के बारे में अर्धवार्षिक विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
2. सीएमपीडीआई द्वारा निर्गत दिशा-निर्देश त्रैमासिक (तिमाही)/तत्काल, यदि नई नीति लागू होती है विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
3. अधिनियम/नियम/विनियमन त्रैमासिक विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
4. सूचना मासिक विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
5. प्रकाशन/रिपोर्ट त्रैमासिक (तिमाही) विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
6. संपर्क विवरण त्रैमासिक(तिमाही)/तत्काल, यदि कोई परिवर्तन हो विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक
7. भर्ती त्रैमासिक (तिमाही)/किसी विशेष स्थिति तत्काल विषय वस्तु (सामग्री) प्रबंधक

वेबसाइट हाइपरलिंकिंग नीति

• बाहरी वेबसाइट/पोर्टल के लिंक्स :
इस वेबसाइट में कई जगहों पर आपको अन्य वेबसाइट/पोर्टल/वेब एप्लिकेशन/मोबाइल एप्लिकेशन के लिंक मिलेंगे। ये लिंक आपकी सुविधा के लिए दिए गए हैं। सीएमपीडीआईएल लिंक डेस्टिनेशन की सामग्री/विषय वस्तु के लिए उत्तरदायी नहीं है तथा उसमें दिए गए विचार का समर्थन करता हो, यह भी आवश्यक नहीं है। सिर्फ लिंक की उपस्थिति या वेबसाइट पर इसकी सूचीबद्धता को किसी तरह का समर्थन नहीं माना जाना चाहिए। हम यह गारंटी नहीं दे सकते कि यह लिंक हर समय काम करेगा ही और यह भी कि लिंक किए गए डेस्टिनेशन की उपलब्धता पर हमार नियंत्रण नहीं है।
• अन्य वेबसाइट/पोर्टल द्वारा हमारे वेबसाइट का लिंक :
हम आपको उस सूचना से सीधे लिंक करने पर आपत्ति नहीं करते हैं जो इस वेबसाइट पर डाला गया है और इसके लिए पूर्वानुमति लेने की भी जरूरत नहीं है। तथापि, हम चाहेंगे कि आप इस वेबसाइट में उपलब्ध कराए गए किसी लिंक के बारे में हमें अवगत कराएं ताकि उसमें किए गए किसी परिवर्तन या किसी नवीनीकरण से आप अवगत रह सकें। अपने पेज को हम आपके साइट फ्रेम में लोड किए जाने की अनुमति नहीं देते हैं। इस साइट वाले पृष्ठ को यूजर के नए खोले गए ब्राउजर विन्डों में अवश्य लोड किया जाना चाहिए।

वेबसाइट गोपनीयता (प्राइवेसी) नीति

सीएमपीडीआईएल आपकी कोई वैसी विशिष्ट जानकारी (जैसे नाम, फोन नम्बर या ई-मेल अड्रेस) स्वतः नहीं लेता है, जिससे हम आपकी व्यक्तिग रूप से पहचान कर सकें ।
हम इस साइट पर किसी व्यक्ति द्वारा स्वैच्छिक रूप में प्रदान की गयी उसकी पहचान वाली जानकारी, यदि कोई हो तो, किसी तृतीय पक्ष (सार्वजनिक/निजी) को न तो बेचते हैं और/या न ही देते हैं। इस वेबसाइट पर दी गई किसी तरह की जानकारी को नुकसान, दुरुपयोग, अनाधिकृत पहुँच या प्रकटीकरण, परिवर्तन या नष्ट (विनाश) होने से बचाया जाएगा।

नियम एवं शर्त/अस्वीकरण (डिसक्लेमर)

इस वेबसाइट का डिजाइन, विकास तथा रख-रखाव (मेंटेन) सीएमपीडीआईएल द्वारा किया जाता है। यद्यपि इस वेबसाइट पर दी गई सामग्री/विषय वस्तु (कंटेन्ट) की परिशुद्धता तथा व्यापकता सुनिश्चित करने का पूरा प्रयास किया जाता है, तथापि, कानून के कथन या किसी वैधानिक उद्देश्य के लिए इसका निर्माण नहीं किया गया है। किसी तरह की दुविधा या संदेह होने पर प्रयोक्ता (यूजर) को सलाह दी जाती है कि वे इसका सत्यापन/इसकी जाँच सीएमपीडीआईएल और/अथवा अन्य स्रोत से कर लें तथा समुचित व्यावसायिक सलाह ले लें।
किसी भी परिस्थिति में इस वेबसाइट के प्रयोग के संबंध में या इसके फलस्वरूप किसी तरह व्यय, हानि या नुकसान के साथ-साथ बिना सीमा के प्रत्यक्ष या आनुषंगिक हानि या क्षति, या कोई खर्च, हानि या नुकसान, जो भी इसके परिणाम स्वरूप हो, के लिए सीएमपीडीआईएल उत्तरदायी नहीं होगा।
इस वेबसाइट पर पोस्ट की गई जानकारी/सूचना में सरकारी/गैर सरकारी/निजी संगठनों द्वारा सृजित एवं अनुरक्षित हाइपरटेक्स्ट या प्वाइंटर टू इन्फार्मेशन शामिल हो सकता है। सीएमपीडीआईएल सिर्फ आपकी सूचना एवं सुविधा के लिए हाइपरटेक्स्ट लिंक या प्वाइंटर उपलब्ध करा रहा है। जब आप किसी बाहरी वेबसाइट का लिंक सेलेक्ट करते हैं तब आप सीएमपीडीआईएल के वेबसाइट को छोड़ रहे होते हैं और आप बाहरी वेबसाइट के मालिक/प्रायोजक की निजता तथा सुरक्षा नीति के अनुसार संचालित हो रहे हैं।
सीएमपीडीआई हर समय लिंक पेज की उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।
सीएमपीडीआई लिंक वेबसाइट में निहित कॉपीराइट वाली सामग्री के उपयोग को प्राधिकृत नहीं कर सकता है। प्रयोक्ता को सलाह दी जाती है कि इस तरह के प्राधिकार के लिए लिंक वेबसाइट के मालिक से अनुरोध करे।
सीएमपीडीआईएल यह गारंटी नहीं देता है कि लिंक किए गए वेबसाइट भारत सरकार के वेब दिशा-निर्देशों का पालन करता है।

वेबसाइट मॉनिटरिंग नीति

"सीएमपीडीआई” के पास सटीक वेबसाइट मॉनिटरिंग नीति है तथा निम्नलिखित पैरामीटरों के बारे में गुणवत्ता तथा सुसंगतता (कम्पैटिबिलीटी) का पता लगाने तथा निर्धारित करने के लिए वेबसाइट की नियमित मॉनिटरिंग की जाती है।
कार्यात्मकता : वेबसाइट के सभी माड्यूल की उनकी कार्यात्मकता (फंक्शनलिटी) के लिए जाँच की जाती है।
ब्रोकेन लिंक : किसी ब्रोकेन लिंक या एरर की उपस्थिति को दूर करने के लिए वेबसाइट की पूरी तरह समीक्षा की जाती है।

वेबसाइट कंटीजेंसी प्रबंधन नीति

इंटरनेट पर वेबसाइट की हर समय उपस्थिति रहती है और मुख्य रूप से साइट हर समय पूर्णतः कार्यरत रहता है। यह अपेक्षा की जाती है कि सीएमपीडीआई का वेबसाइट 24x7 के आधार पर सूचनाओं और सेवाओं को प्रदान करता रहे। इसलिए, जहाँ तक संभव हो, वेबसाइट के डाऊन टाइम को न्यूनतम करने के लिए सभी प्रयास किए जाने चाहिए।
अतः यह आवश्यक है कि किसी भी संभाव्य घटनाओं से निपटने तथा संभावित न्यूनतम अवधि में साइट को रिस्टोर करने के लिए एक समुचित आकस्मिक योजना तैयार की जानी चाहिए। संभावित आकस्मिकताओं में निम्नलिखित शामिल है :-
वेबसाइट की विकृति (डिफेसमेंट): अनैतिक तत्वों द्वारा किसी भी संभावित विकृति/हैकिंग को रोकने हेतु वेबसाइट के लिए सभी संभव सुरक्षात्मक उपाय किए जा चुके हैं। हालाँकि, इन सुरक्षा उपायों के बावजूद यदि इस तरह की संभावित घटनाओं का पता चलता है तो, जो समुचित आकस्मिक योजना मौजूद हो, वह तत्काल लागू हो जाएगी । संदेह से परे यदि यह प्रमाणित हो जाता है कि वेबसाइट को विकृत किया गया है तो, साइट को तत्काल ब्लॉक (बंद) कर दिया जाएगा। आकस्मिक योजना स्पष्ट रूप से दर्शाती है कि इस तरह कि संभावित घटनाओं पर आगे की कार्रवाई हेतु निर्णय लेने के लिए कौन व्यक्ति अधिकृत होगा। इस अधिकृत व्यक्ति का संपूर्ण सम्पर्क विवरण वेब प्रबंधन टीम के पास हर समय अवश्य उपलबध रहना चाहिए। अल्प संभाव्य अवधि में ऑरिजिनल (मूल) साइट को रिस्टोर (पुनर्स्थापित) करने के लिए सभी प्रयास किए जाते हैं।
डेटा करप्शन: वेब साइट डेटा का समुचित और नियमित बैक अप को सुनिश्चित करने के लिए वेब हास्टिंग सेवा प्रदाता (सर्विस प्रोवाइरड) के सहयोग से संबंधित व्यक्ति के द्वारा समुचित क्रियाविधि शुरू की गयी है। यह आँकड़े से सम्बंधित किसी भी करप्शन के आलोक में यह नागरिकों के लिए त्वरित रिकवरी और सूचना की अबाधित उपलब्धता को सक्षम बनाता है।

आकस्मिक योजना (कंटीजेंसी प्लान) :

1. विकृति (डिफेसमेंट) के मामले में : वेबसाइट की विकृति (डिफेसमेंट) के मामले में निम्नलिखित कार्रवाई की जाती है :-
(क) विकृति की घटना को सीईआरटी-आईएन को सूचित किया जाएगा।
(ख) आवश्यक कार्रवाई की जाएगी ताकि इस प्रकार की विकृति दुबारा न हो।
(ग) यदि आवश्यक हुआ तो वेबसाइट डाटा के बैकअप को क्लीन कर पुनःस्थापित (रिस्टोर) किया जाएगा।
(घ) वेबसाइट का पुनः परीक्षण किया जाएगा।
महाप्रबंधक (आईसीटी)/उनके प्राधिकृत प्रतिनिधि वेब मैनेजमेंट टीम को आवश्यक कार्रवाई के लिए सूचित करने हेतु अधिकृत व्यक्ति होंगे ।
2. डेटा करप्शन :
विकृत आँकड़े के मामले में नवीनतम क्लीन बैकअप सहित स्वच्छ/शुद्ध आँकड़ा सीएमपीडीआई की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा।
3. हार्डवेयर/सॉफ्टवेयर क्रैश :
हालाँकि इस प्रकार की घटनाएँ कभी-कभार होती हैं, तथापि जिस सर्वर पर वेबसाइट होता है यदि किन्ही अवांछित कारणों से क्रैश हो जाता है तो, हार्डवेयर/साफ्टवेयर के क्रैश होने के कारणों का पता लगाने का प्रयास किया जाएगा। वेबसाइट को पुनर्स्थापित करने के लिए हार्डवेयर/सॉफ्टवेयर में आवश्यक सुधार/संशोधन किया जाता है।

वेबसाइट की सुरक्षा नीति

‘‘सेंटल माइन प्लानिंग एंड डिजाइन इंस्टीच्यूट’’ के वेबसाइट में सूचनाएँ होती है, जिसे आसानी से प्राप्त किया जा सकता है और किसी भी विजिटर द्वारा इसे आसानी से देखा जा सकता है । हालांकि अपनी वेबसाइट के सभी कंटेंट में कॉपीराइट हित की रक्षा करता है ।
प्राधिकृत सुरक्षा अन्वेषणों और आँकड़ा को जमा/एकत्र करने को छोड़कर इंडिविजुअल यूजर्स, यदि कोई हो, को पहचानने का कोई प्रयास नहीं किया जाएगा। वेबसाइट प्राइवेसी पॉलिसी कस्टमर्स/विजिटर्स द्वारा उपलब्ध कराए गए निजी सूचनाओं के उपयोग से संबंधित हमारी जगह के बारे में विस्तृत विवरण रखता है।
सूचना उपलोड करने या बदलने के लिए अनाधिकृत प्रयास सख्त प्रतिबंधित है और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम-2000 के तहत दंडनीय हो सकता है।

यूजर आईडी और पासवर्ड नीति

जिन उपभोक्ताओं को पासवर्ड पता करने/सूचना को अपलोड करने की अनुमति होती है उनको किसी तीसरी पार्टी को उस पासवर्ड को प्रकट करने अथवा पासवर्ड को शेयर करना प्रतिबंधित होता है। यूजर आईडी एवं पासवर्ड खो जाने या चोरी हो जाने की स्थिति में अथवा यूजर ऐसा विश्वास करता है कि किसी गैर-अधिकृत निजी उपभोक्ता द्वारा इसका पता लगा लिया गया है, तो अधिकृत यूजर तत्काल हमें इसकी सूचना देगा।